ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
एयू बैंक को चेयरमैन की नियुक्ति और एमडी व सीईओ तथा  पूर्णकालिक डायरेक्टर की पुन: नियुक्ति के लिए मिली आरबीआई  की मंजूरी
April 10, 2020 • SRISHTI SHARMA • बिज़नेस
                                     
एयू बैंक को चेयरमैन की नियुक्ति और एमडी व सीईओ तथा  पूर्णकालिक डायरेक्टर की पुन: नियुक्ति के लिए मिली आरबीआई  की मंजूरी

 भारतीय रिज़र्व बैंक ने एयू बैंक को श्री राज विकाश वर्मा को बैंक के अंशकालिक चेयरमैन के लिए एक वर्ष की अवधि के लिए नियुक्ति करने की मंजूरी दी है।
श्री वर्मा को जनवरी 2018 में एयू बैंक के साथ एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में शामिल किया गया था। श्री वर्मा के पास वित्तीय सेवा क्षेत्र में 37 वर्षों का विकास वित्त, नियामक पर्यवेक्षण, आवास वित्त, बंधक वित्त और रियल एस्टेट सेक्टर से सम्बंधित विषयों का मजबूत अनुभव है ।
बीते वर्षों श्री वर्मा ने विभिन्न बोर्डों की अध्यक्षता की, और वह राष्ट्रीय आवास बैंक (NHB) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, सेक्यूरिटीज एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्योरिटी इंटरेस्ट के केंद्रीय रजिस्ट्री (CERSAI) के अध्यक्ष और पूर्णकालिक निदेशक के रूप में कार्य कर चुके है। वह भारत बंधक गारंटी निगम (एडीबी, IFC और यूएस कंपनी जेनवर्थ के जेवी) के पहले अध्यक्ष भी रहे और पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) संपूर्ण-समय के सदस्य और पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) के पूर्णकालिक सदस्य और निदेशक भी थे। उन्होंने 8 साल से अधिक समय तक आरबीआई में भी कार्य किया।
श्री वर्मा ने दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से अर्थशास्त्र में स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की और एफएमएस - दिल्ली विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री प्राप्त की। वह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (CAIIB) के सर्टिफाइड एसोसिएट भी है।
इसके साथ ही साथ भारतीय रिज़र्व बैंक ने एयू बैंक में श्री संजय अग्रवाल की प्रबंध निदेशक और सीईओ के रूप में और श्री उत्तम टिबरेवाल की बैंक के पूर्णकालिक निदेशक के रूप 3 (तीन) वर्ष की अवधि के लिए पुनर्नियुक्ति की स्वीकृति दे दी है ।
श्री संजय अग्रवाल वर्ष 1996 से इस संस्था की स्थापना से साथ जुड़े रहे हैं (पूर्ववर्ती एयू फाइनेंसर्स (इंडिया) लिमिटेड ) और एयू बैंक के प्रमोटर, एमडी और सीईओ हैं। । श्री संजय अग्रवाल के पास वित्त, लेखा, कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था, बैंकिंग, मानव संसाधन, जोखिम और व्यवसाय प्रबंधन के क्षेत्र में व्यापक अनुभव है। श्री अग्रवाल रैंक धारक चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं और वे बैंक की रणनीतिक और कॉर्पोरेट योजना और जोखिम प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
श्री उत्तम टिबरेवाल वर्ष 2003 से एयू बैंक से जुड़े हुए हैं और उन्होंने एयू के एनबीएफसी से सबसे बड़ा लघु वित्त बैंक बनने में एक बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनके पास फाइनेंशियल सर्विसेज स्पेस में 23 वर्षों का अनुभव है। श्री टिबरेवल के पास अकाउंटेंसी, बैंकिंग, कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था, लघु उद्योग, जोखिम और व्यवसाय प्रबंधन के क्षेत्र में विशेष ज्ञान और व्यावहारिक अनुभव है। वह खुदरा वित्त में एक विशेषज्ञ है और उसने वर्षों में खुदरा व्यापार को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।