ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के वित्त वर्ष 2019-20 के ऑपरेटिंग शुद्ध लाभ में 56% की मजबूत बढत, एसेट क्वालिटी में हुआ सुधार
May 3, 2020 • SRISHTI SHARMA • बिज़नेस

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के वित्त वर्ष 2019-20 के ऑपरेटिंग शुद्ध लाभ में 56% की मजबूत बढत, एसेट क्वालिटी में हुआ सुधार

जयपुर / एयू स्मॉल फइनेंस बैंक लिमिटेड के निदेशक मंडल ने आज आयोजित अपनी बैठक में 31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही और वर्ष के लिए ऑडिट किए गए वित्तीय परिणामों को मंजूरी दे दीवित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध ऑपरेटिंग लाभ, वित्त वर्ष 2018-19 से 56% बढ़कर रु.596 करोड़ हो गया, जो कि मजबूत विकास, लागत में सुधार और स्थिर परिसंपत्ति गुणवत्ता द्वारा संचालित है वित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध लाभ (अन्य आय के साथ) 77% बढकर रु.675 करोड़
हो गया । वित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध ब्याज आय 42% से बढ़कर 1909 करोड़ हुयी

इस अवसर पर बात करते हुए एयू स्माल पाइनेंस बैंक के एमडी और सीईओ श्री संजय अग्रवाल जी ने कहा, अप्रैल माह में हमने एक बैंक के तौर पर 3 साल और एक भरोसेमंद संस्थान के रूप में 25 साल पूरे किये हैं, हम हमारे ग्राहकों, निवेशकों, कर्मचारियों और रेगुलेटर्स के लगातार भरोसे के लिए हार्दिक शुक्रगुजार हैं ऑपरेटिंग परफरमेंस के सन्दर्भ में उन्होंने कहा कि, वित्तीय वर्ष 2019-20 के आर्थिक उतार चढाव के बावजूद, एयू बैंक ने इस साल के ऑपरेटिंग प्रॉफ्ट्सि में 56% की बढत दर्ज की है हम लगातार पूंजी पर्याप्तता और बेहतरीन लिक्विडिटी बनाए हुए हैं हमारी संपत्ति की गुणवत्ता में बढौतरी और ग्रॉस और नेट एनपीएण में कमी हुई है बैंक ने कोविड-19 के सम्बन्ध में एक पर्याप्त प्रोविजन अलग से बनाया है जोकि स्टैण्डर्ड एसेट्स पर बने प्रोविजन और गौर्स एनपी पर बने प्रोविजन से अलग है हमारे ग्रैनुलर दृष्टिकोण, मजबूत अंडरराइटिंग, सुदृढ कलेक्शन और उच्च कोलैटरल स्तरों के कारण से हम हमेशा अपने नेट क्रेडिट लॉसेस को नियंत्रित रख पाए हैं
हमें पूरा विश्वास है कि हम अपनी इन्ही बातों से आगे भी और मजबूत बनके उभरेंगे हमारे रिटेल डिपॉजिट्स लगातार बढ़ रहे हैं जोकि हमारी लायबिलिटी रणनीति का महत्वपूर्ण आधार हैं

मौजूदा विपत्ति से हम लगातार सीख रहे हैं और एक संस्थान के रूप में खुद को और मजबूत बनाने के लिए प्रयासरत हैं । अपने कर्मचारियों, ग्राहकों तथा समाज को कोरोना महामारी से लड़ने में सहयोग देने के लिए मैंने वित्तीय वर्ष 2020-21 का अपना वेतन त्यागने का और मेरी निजी स्वामित्व में से एयू बैंक के 25 लाख शेयर का प्रतिपादन कर इस उपयोग में लेने का निर्णय लिया है
एयू बैंक ने बैंक के रूप में 3 वर्ष और एक संस्थान के रूप में 25 वर्ष पूर्ण किये

• एयू बैंक ने सतत और विश्वसनीय सेवा के 25 वर्ष और बैंक के रूप 3 वर्ष पूरा करने की उपलब्धि हासिल की।

पिछले वित्तीय वर्ष में किया निदेशक मंडल का विस्तार और नियुक्त नए अंशकालिक अध्यक्ष

• श्री वी जी कन्नन एडिशनल डायरेक्टर नियुक्त हुए । श्री कन्नन जी को 38 साल का वित्तीय सेवा क्षेत्र का अनुभव हैइससे पहले, उन्होंने इंडियन बैंक एसोसिएशन के मुख्य कार्यकारी, भारतीय स्टेट बैंक के एमडी और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स के एमडी और सीईओ के रूप में कार्य किया हैं। वह वर्तमान में बीएफएसआई सेक्टर स्किल काउंसिल ऑफ इंडिया और IIBF में निदेशक के रूप में सेवारत हैं । बैंक के अंशकालिक अध्यक्ष के रूप में  राज विकाश वर्मा जी की नियुक्ति ।अगले 3 वर्षों की अवधि के लिए बैंक के प्रबंध निदेशक और सीईओ के रूप में  संजय अग्रवाल और कार्यकारी निदेशक के रूप श्री उत्तम टिबरेवाल की पुन नियुक्ति को भारतीय रिजर्व बैंक से मिली मंजूरी ।

रिटेल ऋणों में बढत जारी, एसेट क्वालिटी हुयी और बहेतर, नियमित गति के साथ डिपॉजिट्स बढे

• कठिन परिस्थितिओं के बावजूद नए लोन वितरण में 16% की वार्षिक वृद्धि, खुदरा ऋणों में 27% की मजबूत बढत नए एनबीऍफसी ऋणों की कटौती । नॉन फण्ड बेस्ड संवितरण में 155% की वार्षिक वृद्धि । होम लोन्स में अच्छी गति

* लोन एयूएम पोर्टफेलियो 27% की वार्षिक बढत के साथ रु.30,893 करोड़ हुआ बैंक सुरक्षित छोटे रिटेल लोन्स पर केंद्रित जिसमे हुयी 38% की वार्षिक बढोतरी। कुल लोन एयूएम पोर्टफेलियो में छोटे रिटेल लोन्स का अनुपात बढकर 84% हुआ 98% एयूएम पोर्टफेलियो सम्पति द्वारा सुरक्षित

* बैंक की कुल डिपॉजिट्स 35% की वार्षिक वृद्धि के साथ रु.26,164 करोड हुयी, दिसंबर 2019 तिमाही की तुलना में भी डिपॉजिट्स में आयी 10% की वृद्धि कुल डिपॉजिट्स में रिटेल डिपॉजिट्स का अनुपात 43% हुआ

31 मार्च 2019 की तुलना में, 31 मार्च 2020 को सकल एनपीए 30 बीपीएस से घटकर 1.7% और नेट एनपीए 50 बीपीएस घटकर 0.8% हो गए

पर्याप्त रूप से पूंजीकृत

• कुल सीआरएआर 22.0% और प्रथम स्तरीय सीआरएआर (Tier I CRAR) ~ 18.4% भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रस्तावित न्यूनतम नियामक 15% कुल सीआरएआर और 7.5% (Tier 1 CRAR) से काफ अधिक ।

• आवास फइनेंसर्स लिमिटेड में 6.34% शेयरधारिता का अतिरिक्त बफर

कम्फर्टेबले लिक्विडिटी (तरलता) उपलब्ध संसाधनों के विवेकपूर्ण मिश्रण से कॉस्ट ऑफ फाड को घटाने पर ध्यान

• बैंक ने महत्वपूर्ण एसएलआरए सीआरआर और एलसीआर रेश्यो को विनियामक आवश्यकताओं ऊपर से और अधिक स्तरों पर रखते हुए अधिक तरलता बनाए रखी। बैंक का लिक्विडिटी न्यूनतम निर्धारित 90% के नियामक स्तर के सामने 133% था ।

* चौथी तिमाही में बैंक ने व्हीकल लोन्स के AAA (SO) पूल का पीटीसी सेक्युरिटाईजेशन ट्राजैक्शन कर रु.958 करोड किया और इसके अतिरिक्त, बैंक ने सिडबी और नाबार्ड से भी कुल ₹ 1000 का रिफइनेंस लिया

स्माल फाइनेंस बैंक की सभी नियामक आवश्यकताओं का अनुपालन

• वित्त वर्ष 2019-20 के लिए औसत पीएसएल 85% (न्यूनतम अनुपालन स्तर 75%)।

कोविद-19 स बंधित अतिरिक्त प्रोविजन्स के बावजूद शुद्ध लाभ में मजबूत बढत

• वित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध ब्याज आय 42% से बढ़कर 1909 करोड़ हुयी

• वित्त वर्ष 2019-20 के लिए नए लोन्स की यील्ड 1.24% से बढ़कर 15.4% हुयी । पूर्ण वर्ष 2019-20 की लोन एयूएम पोर्टफेलियो यील्ड 0.40% से बढ़कर 14.7%

• हमारे कॉस्ट ऑफफंड्स 7.7% गत वर्ष की तुलना में 20bps कम हुयी ।

स्प्रेडस यानिकि पोर्टफेलियो यील्ड और कॉस्ट ऑफफंड्स के अंतर में 60bps की वार्षिक वृद्धि हुयी

• वित्त वर्ष 2019-20 में हमारी लागत-से-आय का अनुपात वर्ष 2018-19 में 60.0% से घटकर 56.1% हो गया ।

• वित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध लाभ अन्य आय के साथ 77% बढकर रु.675 करोड़ हो गया ।

. * वित्त वर्ष 2019-20 में शुद्ध ऑपरेटिंग लाभ, वित्त वर्ष 2018-19 से 56% बढ़कर रु.596 करोड़ हो गया, जो कि मजबूत विकास, लागत में सुधार और स्थिर परिसंपत्ति गुणवत्ता द्वारा संचालित है ।