ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
मध्य प्रदेश 2020 में फिल्म शूटिंग के लिए एक प्रमुख स्थल के तौर पर उभरने को तैयार
January 31, 2020 • SRISHTI SHARMA • मध्यप्रदेश

मध्य प्रदेश 2020 में फिल्म शूटिंग के लिए एक प्रमुख स्थल के तौर पर उभरने को तैयार

भोपाल : मध्य प्रदेश में फिल्मों और टीवी परियोजनाओं में तेजी को देखते हुए यह राज्य वर्ष 2020 में एक प्रमुख फिल्म शूटिंग स्थल के तौर पर उभरने को तैयार है। अतुल्य भारत का दिल कहलाने वाला मध्य प्रदेश ऐसे ढेरों आकर्षक स्थलों की पेशकश करता है जिसने सभी विधा के फिल्म निर्माताओं को अपनी ओर आकर्षित किया है।

जैसा कि इस राज्य में अक्सर बॉलीवुड उद्योग के लोग आते रहे हैं, मध्य प्रदेश पर्यटन ने इस राज्य के फिल्म पर्यटन को बढ़ावा देने का निर्णय किया है। पैरामाउंट पिक्चर्स द्वारा “दि बीयर”, बीबीसी प्रोडक्शन द्वारा “अ सुटेबल बॉय”, “व्हाइट टाइगर” आदि जैसी हॉलीवुड परियोजनाओं और कई भारतीय फीचर फिल्मों, टीवी/सीरीज सीरियल्स सहित 200 से अधिक परियोजनाएं अभी तक मध्य प्रदेश में फिल्माई गई हैं। हाल ही में फिल्माई गई फिल्मों में “पंगा”, “स्त्री”, “सुई धागा”, “कलंक”, “मणिकर्णिका”, “लुका छुप्पी”, “पैडमैन', “टॉयलेट एक प्रेम कथा”, “मोहेनजोदड़ो”, “बाजी राव मस्तानी”, “मोती चूर चकना चूर” शामिल हैं। इनके अलावा, कई वेब सीरीज़ भी इस राज्य में पहुंच रही हैं और मौजूदा परियोजनाओं में जिमी शेरगिल, शरद केलकर, गुल पनाग अभिनीत “रंगबाज़ फिरसे”, “पंचायत”, “शटल कॉक मर्डर”, “गुल्लक” और ओरछा, खजुराहो, महेश्वर जैसे शानदार स्थानों पर कुछ टीवी विज्ञापनों की शूटिंग शामिल है।

वर्ष 2020 में आ रही परियोजनाओं में विद्या बालन अभिनीत “शेरनी”, भूमि अभिनीत “दुर्गावती”, “भुज दि प्राइड ऑफ इंडियन”, मणि रत्नम निर्देशित कई फिल्मी सितारों वाली “पोन्नी इन सेलवन”, कार्निवल मोशन पिक्चर्स की “मेरे देश की धरती” शामिल हैं। इस राज्य में जिन टीवी सीरियल्स की शूटिंग की जा रही है उनमें स्टार प्लस के लिए राजश्री प्रोडक्शन का आगामी टीवी सीरियल “दादी अम्मा, दादी अम्मा मान जाओ”, सोनी एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित एक “दूजे के वास्ते-2” शामिल हैं जहां सभी 250 एपिसोड्स की शूटिंग भोपाल और इसके आसपास के स्थानों पर की जाएगी

मध्य प्रदेश सरकार के पर्यटन सचिव और मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड के प्रबंध निदेशक श्री फैज़ अहमद किदवई (आईएएस) के मुताबिक, “मध्य प्रदेश प्राकृतिक स्थलों, प्राचीन धरोहर, विशाल जल प्रपात, सहयोगपूर्ण प्रशासन का एक आदर्श संगम है जिससे यह कई वर्षों से फिल्म निर्माताओं के बीच पसंदीदा स्थल बना हुआ है। यह इस राज्य के लिए प्रतिष्ठा की बात है कि फिल्म बिरादरी बार बार हमारे राज्य पधार रही है। पर्यटन को बढाने के लिए वास्तव में यह एक अच्छा अवसर है। बॉलीवुड के निर्माता और निर्देशक न केवल मनोरम दृश्य, बल्कि यहां के आतिथ्य सत्कार वाले लोगों की वजह से दूसरे स्थानों के मुकाबले इस राज्य को अधिक अनुकूल पाते हैं।”

मध्य प्रदेश घूमने फिरने के शौकीन लोगों को कई तरह के आकर्षण की पेशकश करता है और यह हर सीजन के लिए एक पर्यटन स्थल के तौर पर उभर रहा है। यह ऐसा राज्य है जहां 77,700 वर्ग किलोमीटर का वन क्षेत्र है जो साल के पेड़ों और बांस से भरा पड़ा है। सतपुड़ा नेशनल पार्क, चंबल घड़ियाल अभयारण्य जैसे 11 नेशनल पार्कों और 24 वन्यजीव अभयारण्यों के अलावा इसने सबसे अधिक 526 बाघ के साथ ' राज्य” का तमगा फिर से हासिल किया है। मध्य प्रदेश के घने और खूबसूरत जंगलों में बाघों की दहाड़ बढ़ी है। यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल खजुराहो, भीमबेटका और सांची मध्य प्रदेश में प्रतिष्ठित स्थल हैं।