ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
प्रधानमंत्री ने वाराणसी में आयोजित स्किल इंडिया के रोज़गार मेले के सफल उम्मीदवारों को किया सम्मानित : उन्हें प्रतिष्ठित कंपनियों से नौकरी के ऑफर लेटर प्रदान किए
February 18, 2020 • SRISHTI SHARMA • शिक्षा

                                     

प्रधानमंत्री द्वारा सम्मानित किए गए तीन उम्मीदवारों- रिंकी पांडे, मानवेंद्र सिंह और समीर अहमद को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) और भारतीय औद्योगिक प्रशिक्षण सं थान (आईटीआई) के तहत प्रशिक्षित किया गया है।

वाराणसी : प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वाराणसी में पीएमकेवीवाई के तहत सफलतापूर्वक अपना कोर्स पूरा करने वालों और हाल ही में संपन्न हुए कौशल महोत्सव में नौकरी प्राप्त करने वालों उम्मीदवारों को ऑफर लेटर प्रदान किए। गत दिनों 12-13 फरवरी को स्किल इंडिया के अंतर्गत वाराणसी में आयोजित कौशल महोत्सव के रोज़गार मेले में 1600 से अधिक युवाओं को रोज़गार के अवसर दिए गए थे। इनमें से तीन युवाओं को प्रधानमंत्री श्री मोदी ने स्वयं कंपनियों के ऑफर लेटर देकर सम्मानित किया और उन्हें उज्जवल भविष्य के लिए अपनी शुभकामनाएं दीं। इस महत्वपूर्ण अवसर पर भारत के कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय भी थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय मेमोरियल सेंटर के उद्घाटन के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में पं. दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने के लिए वाराणसी में थे

प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा ऑफर लेटर दिए जाने के लिए चुने गए तीन युवाओं में 35 वर्षीय रिंकी पांडे, 23 वर्षीय मानवेन्द्र सिंह और 19 वर्षीय समीर अहमद शामिल हैं। रिंकी पांडे ने वर्ष 2012 में बी.ए. पास किया था, लेकिन शारीरिक परिस्थतियों के कारण उन्हें नौकरी पाने में कठिनाई का सामना करना पड़ा। रिंकी पांडे ने एक रिटेल टेनी एसोसिएट के रूप में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) से अल्पकालिक प्रशिक्षण लिया। वाराणसी में आयोजित कौशल महोत्सव में रिंकी को 'बेटर प्लेस' नामित कंपनी द्वारा टेलीकॉलर जॉब रोल के लिए 16, 500 रुपए प्रतिमाह के वेतन पर शार्टलिस्ट किया गया। वहीं प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा ऑफर लेटर दिए गए दूसरे अभ्यर्थी मानवेन्द्र सिंह ने औद्योगिक प्रशिक्षण सं थान से दो साल का फिटर कोर्स पूरा किया है। इस रोजगार मेले में मानवेन्द्र को 'वास्तु विहार' नाम की निर्माण कंपनी ने पटना में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव की नौकरी के लिए दस हजार रुपए प्रतिमाह के वेतन पर शार्टलिस्ट किया है। प्रधानमंत्री जी से ऑफर लेटर प्राप्त करने वाले तीसरे उम्मीदवार समीर अहमद ने भी औद्योगिक प्रशिक्षण सं थान से एक साल का क प्यूटर ऑपरेटर का कोर्स पूरा किया है। समीर अहमद को भी गुड़गांव की कंपनी 'बेटर प्लेस' ने 16,500 रुपए प्रतिमाह के वेतन पर शार्टलिस्ट किया है। समीप एक रिक्रूटर के रूप में अपनी नई नौकरी की भूमिका को लेकर बहुत उत्साहित हैं, जहां वह नौकरियों के लिए अन्य उम्मीदवारों को नियुक्त करने के लिए जिम्मेदार होंगे

कौशलमहोत्सव, कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय द्वारा 12 और 13 फरवरी को वाराणसी में आयोजित किया गया था। इस महोत्सव ने उत्तर प्रदेश के लोगों को बेहतर और स् थायी आजीविका प्रदान करने की दिशा में सरकार की विभिन्न कौशल विकास पहलों को प्रदर्शित करने के लिए एक मंच के रूप में काम किया। साथ ही इस महोत्सव ने उम्मीदवारों को संभावित नियोक्ताओं से मिलने और उन्हें उपलब्ध कौशल और रोजगार के विभिन्न अवसरों को समझने में सहायता की

कौशल महोत्सव के रोजगार मेले में ब्यूटी एंड वेलनेस, रिटेल, एग्रीक चर, इन्फार्मेशन टेक्नॉलजी, आटोमोबाइल, लेदर और हॉस्पिटैलिटी जैसे 20 क्षेत्रों के 125 से अधिक प्रमुख कंपनियों ने भाग लिया और उम्मीदवारों को रोजगार की पेशकश कीवर्धमान, कार्निवाल सिनेमा, बीबा अपैरल, बार्बेक्यू नेशन, कोटक, कैफे कॉफी डे, स्विगी, बेटर प्लेस, वास्तु एस्टेट जैसी कंपनियों ने आगे आकर सेल्स एक्जीक्यूटिव, वेयरहाउस एग्जीक्यूटिव, रिटेल ट्रेनी एसोसिएट, कस्टमर सर्विस, ब्यूटी थेरेपिस्ट जैसे जॉबरोल के लिए उम्मीदवारों को नौकरी की पेशकश की

ज्ञात हो कि वाराणसी में आयोजित कौशल महोत्सव के रोजगार मेले के लिए लगभग 6500 से उम्मीदवारो ने अपना पंजीकरण कराया था जिसमें 1600 से अधिक छात्रों को जॉब ऑफर के लेटर मिले हैं। कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय ने पूरे देश में अभी तक अप्रैल 2018 से जनवरी 2020 की अवधि में कुल 1440 रोजगार मेले आयोजित किए हैं जिसमें लगभग 5,40,000 उम्मीदवार अपना पंजीकरण करा चुके हैं। इन उम्मीदवारों में 2.40 लाख उम्मीदवारों को शार्ट-लिस्ट किया जा चुका है यदि केवल उत्तर प्रदेश की बात की जाए तो अब तक 65 जिलों में ये रोजगार मेले लगाए जा चुके ज्ञात हो कि 16 फरवरी को अपने वाराणसी प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 1254 करोड़ रुपए की 50 परियोजनाओं की नींव रखी है। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी ने यह कहा है कि नए भारत का युवा, रोजगार के नए अवसर सृजित कर रहा हैकौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री माननीय श्री महेंद्र नाथ पाण्डेय ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा है कि "देश के पास एक बहुत बड़ा संसाधन हैअगले कुछ वर्षों में भारत एक आर्थिक महाशक्ति बन सके इसके लिए इसका सही उपयोग किया जा सकता है। उत्तर प्रदेश में युवाओं के लिए कई कौशल विकास पहल शुरू की गई हैं। युवा विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे कल का नेतृत्व करने वाले हैं और देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। वाराणसी के युवाओं ने बड़ी क्षमता दिखाई है और मजबूत वादा निभाया है। हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम युवाओं को भारत को विश्व की कौशल राजधानी बनाने के प्रधानमंत्री जी के दृष्टिकोण के अवसरों के साथ सशक्त करें। पंडितदीनदयाल उपाध्याय जी की मूर्ति कई लोगों को प्रेरित करेगी और आने वाले वर्षों में युवाओं को प्रोत्साहित करेगी। "

उल्लेखनीय है कि सरकार ने देश में कौशल विकास और रोजगार सृजन की गति में सुधार की दिशा में कई पहल की हैं। रोजगार और कौशल विकास के लिए एक कैबिनेट समिति के गठन के अलावा, हर स्तर पर कई योजनाएं शुरू की गई हैं। गुजरात के सफल मॉडल को ध्यान में रखते हुए, उत्तर प्रदेश सरकार कौशल विकास के लिए एक व्यापक एकीकृत रूपरेखा बनाने की दिशा में काम करेगी और उत्तर प्रदेश में कौशल विकास गतिविधियों के लिए समग्र नीति निर्देशन, निगरानी, समन्वय, अभिसरण के लिए शीर्ष निकाय स्थापित करेगी