ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
समाज के संकटग्रस्त तबके के लिए आईटीसी ने बनाया 150 करोड़ रुपये का कोविड आकस्मिकता फंड
March 27, 2020 • SRISHTI SHARMA • बिज़नेस

समाज के संकटग्रस्त तबके के लिए आईटीसी ने बनाया 150 करोड़ रुपये का कोविड आकस्मिकता फंड

कोलकाता  /आईटीसी के चेयरमैन संजीव पुरी ने कहा कि हम सब एक अप्रत्याशित स्थिति में हैं, क्योंकि देश और दुनिया कोविड-19 की गिरफ्त में है। कॉरपोरेट सिटिजन के तौर पर बतौर उद्योग जगत हमें इस महामारी को नियंत्रित करने की दिशा में अर्थपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए। इस तरह की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियां वास्तव में अप्रत्याशित कदम चाहती हैं। आईटीसी हमेशा ‘राष्ट्र सबसे पहले - सब साथ बढ़े के सिद्धांत पर चलती है। इसी के तहत विशेषरूप से संकटग्रस्त लोगों, जिनमें से ज्यादातर ग्रामीण भारत में रहते हैं, की समावेशी और सतत प्रगति पर फोकस करते हुए भारत के लोगों पर आए इस संकट से लड़ने में भारत सरकार के प्रयासों में समर्थन के लिए आईटीसी ने अपनी पूरी वैल्यू चेन को लगा दिया है।

पिछले कुछ हफ्तों के दौरान इस संकट से निपटने की दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। अभी हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि आईटीसी इस विपरीत परिस्थिति में आ रही चुनौतियों से निपटने और इसके प्रबंधन के लिए 150 करोड़ रुपये का आकस्मिक फंड स्थापित कर रही है। इस फंड का इस्तेमाल प्राथमिक तौर पर समाज के सबसे संकटग्रस्त और जरूरतमंद तबके की मदद के लिए किया जाएगा, जिन पर इस महामारी के कारण बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है, और जिनकी आजीविका खतरे में पड़ गई है। इसके अतिरिक्त, जिला प्राधिकारियों के साथ मिलकर जिला एवं ग्रामीण स्वास्थ्य व्यवस्था को भी सहयोग किया जाएगा, जिससे समाज के कमजोर वर्ग तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंच सकें। इसके साथ ही इस फंड का इस्तेमाल लॉकडाउन के दौरान देशभर में लोगों तक दवाएं, ग्रॉसरी, अन्य आवश्यक वस्तुओं, कृषि उत्पादों व अन्य तमाम वस्तुओं की पहुंच सुनिश्चित करने के काम में लगे लोगों की सुरक्षा एवं देखभाल में भी किया जाएगा। ऐसे योद्धाओं को व्यक्तिगत सुरक्षा एवं सफाई से जुड़े उत्पाद मुहैया कराए जाएंगे।

इस मुश्किल समय में यह बेहद जरूरी है कि देश में आवश्यक खाद्य पदार्थों एवं स्वच्छता से जुड़े उत्पादों की उपलब्धता बनी रहे। हम राज्य प्राधिकारियों एवं स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम कर रहे हैं कि न्यूनतम कर्मचारियों के साथ मैन्यूफैक्चरिंग एवं डिस्ट्रीब्यूशन गतिविधियां चलती रहें। हम एक समूह के तौर पर संयम एवं सोशल आइसोलेशन को अपना रहे हैं और ऐसे में अपने कर्मचारियों और वैल्यू चेन पार्टनर्स की सुरक्षा व उनकी देखभाल सुनिश्चित करना हमारी प्रतिबद्धता है। आईटीसी इस महामारी से लड़ने में सरकार के प्रयासों के समर्थन एवं अपने हिस्से की भूमिका को पूरे करुणाभाव एवं सहजता के साथ निभाने के लिए प्रतिबद्ध है।