ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
शारदा युनिवर्सिटी ने ऑटो एक्सपो 2020 में आइकॉनिक ई बाइक्स 'विज़न' और 'वान' प्रदर्शित की
February 13, 2020 • SRISHTI SHARMA • शिक्षा

                                         

शारदा युनिवर्सिटी ने ऑटो एक्सपो 2020 में आइकॉनिक ई बाइक्स 'विज़न' और 'वान' प्रदर्शित की

शारदा युनिवर्सिटी उत्कृष्टता का ऐसा संस्थान है जो विद्यार्थियों के बीच समग्र रूप से सीखने और प्रतिस्पर्धी क्षमता विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करता है। इस वर्ष शारदा युनिवर्सिटी के विद्यार्थियों ने ऑटो एक्सपो 2020 में ई वाहन की पूरी तरह से नयी अवधारणाओं को प्रदर्शित किया जिनमें एक इलेक्ट्रिक हबलेस बाइक वान और ई कंप्यूटर स्पोर्ट्स बाइक विज़न शामिल हैं। यह एक ऐसा ऐतिहासिक आयोजन है जहां वाहन उद्योग से अनूठे विचारों वाले लोग वाहन प्रेमियों के लिए सर्वोत्तम चीजे प्रदर्शित करने के उद्देश्य से एक साथ आते हैं।

मौजूदा भारतीय परिवहन एवं पर्यावरण परिदृश्य को देखते हुए इन वाहनों को एक अनूठे दृष्टिकोण से डिजाइन किया गया है जिससे ग्राहकों का अनुभव बढ़ सके। इस 15वें संस्करण का आयोजन ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो मार्ट में किया जा रहा है जिसमें दुनियाभर से भारी संख्या में लोग आकर्षित हो रहे हैं।

विज़न-ई कम्युटर स्पोर्ट्स बाइक : शारदा युनिवर्सिटी की दूरदृष्टि के तहत पेश यह एक ई कंप्यूटर स्पोर्ट्स बाइक है जिसका लक्ष्य ईंधन के चलते पैदा होने वाले प्रदूषण को कम करना है। इस दोपहिया वाहन की सबसे खास बात शून्य प्रदूषण है जिससे पर्यावरण या मानव को कोई नुकसान नहीं पहुंचता। इसमें सर्विस के दौरान कोई पुर्जा बदलने की जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि इस वाहन में कोई बड़ा मैकेनिकल पुर्जा नहीं लगा है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए वाहनों की वजह से प्रदूषण की दर तेजी से बढ़ रही है। इसलिए, इससे निपटने के लिए इस टीम ने एक ऐसा इलेक्ट्रिक वाहन (टू-व्हीलर) विकसित किया है जो उपभोक्ता के सभी पहलुओं का ध्यान रखेगा। इस वाहन की डिजाइन का लक्ष्य पूरी तरह से नए हब मोटर के जरिये नया कीर्तिमान स्थापित करना है जो अल्ट्रा मोड पर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की गति हासिल कर सकता है और हाई मोड पर यह 55 किलोमीटर प्रति घंटे और लो मोड पर 40 किलोमीटर प्रति घंटे की गति पर चल सकता है।

वान-इलेक्ट्रिक हबलेस बाइक : नयी पीढ़ी की इलेक्ट्रिक बाइक किस तरह की होनी चाहिए, इस बात को ध्यान में रखकर इस वाहन को डिजाइन किया गया है। इस ईएचबी के रोल केज को क्रोमोली पाइपों का उपयोग कर बनाया गया हैबॉडी फेम को विभिन्न स्थितियों को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है और यह अपने उद्देश्य में कारगर हैईएचबी में हबलेस व्हील्स की डिजाइन अलग है और इसमें ब्रेक की जरूरत नहीं पड़ती। इसमेंबियरिंग्स पहियों का घुमाव उपलब्ध कराता है और इसे टायर के फेम और रिंग के सेंटर के बीच फंसाया गया हैसेंटर रिंग और टायर के फेम को एल्युमीनियम 7075 से बनाया गया है

इस बारे में शारदा युनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के डीन डॉक्टर परमानंद ने कहा, “शारदा युनिवर्सिटी में हमारा हमेशा से ही यह प्रयास रहता है कि हम विद्यार्थियों को जहां तक संभव हो, सर्वोत्तम अवसर उपलब्ध कराएं जहां वे नयी अवधारणाओं के बारे में सीख सकें और अपनी रचनात्मकता बढ़ा सकें। अगर हम मौजूदा परिदृश्य पर नजर डालें तो एआई, रोबोटिक्स और मशीन लर्निंग के आने के बाद से ही वाहन उद्योग एक तेज बदलाव के दौर से गुजर रहा है। इसलिए, इन विद्यार्थियों ने ऐसे वाहन डिजाइन किए है जो भावी भारतीय वाहन परिदृश्य के बिल्कुल अनुरूप है। हमें इस ऑटो एक्सपो 2020 का हिस्सा बनकर बेहद खुशी है क्योंकि इसने हमारे विद्यार्थियों को अपने नवप्रवर्तन को दिखाने का अवसर दिया है और मैं सभी प्रतिभागियों को वाहनों की इन अनूठी अवधारणाओं के निर्माण में उनके प्रयासों और भारी उत्साह के लिए बधाई देता हूं।”