ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
स्टड्स ने हरियाणा में एशिया का सबसे बड़ा हेलमेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित किया
August 12, 2020 • SRISHTI SHARMA • बिज़नेस

स्टड्स ने हरियाणा में एशिया का सबसे बड़ा हेलमेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित किया, 200 करोड़ रुपये के कुल निवेश के साथ संचालन शुरू किया

नई दिल्ली : भारत में विनिर्माण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए, दुपहिया वाहन हेलमेट की दुनिया की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी (एक वर्ष में बेची गई मात्रा के संदर्भ में), स्टड्स एक्सेसरीज़ लिमिटेड ने हरियाणा के फरीदाबाद में अपने नए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में परिचालन शुरू किया।
5.5 एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैले इस प्लांट को स्थापित करने के लिए कंपनी ने 160 करोड़ रुपये से अधिक का प्रारंभिक निवेश किया है। यह प्लांट एशिया का सबसे बड़ा हेलमेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है। शिफ्टर और थंडर सीरीज़ सहित स्टड्स के कुछ सबसे लोकप्रिय मोटरसाइकिल हेलमेट का उत्पादन करने के अलावा, यह प्लांट भारतीय बाजार के लिए साइकिल हेलमेट का उत्पादन भी करेगा।
एशिया में सबसे बड़ी हेलमेट निर्माण सुविधा स्थापित करने के अलावा, हाल ही में स्टड्स ने अपने एक अन्य मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में भी परिचालन शुरू किया, जो भारत की एकमात्र फैक्ट्री है जिसमें एक्सपैंडेड पॉलीस्टीरीन (ईपीएस) उत्पादन लाइन है। ईपीएस हेलमेट में इस्तेमाल किया जाने वाला फोम है और यह हेलमेट का सबसे महत्वपूर्ण सुरक्षा हिस्सा है। स्टड्स ने दूसरे प्लांट में 40 करोड़ रुपये का निवेश किया है, जो 1.5 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह स्टड्स द्वारा मैन्युफैक्चरिंग संयंत्रों में 200 करोड़ रुपये से अधिक का कुल निवेश दर्शाता है। 
नए संयंत्रों में प्रति वर्ष 75 लाख यूनिट मोटरसाइकिल हेलमेट और 15 लाख साइकिल हेलमेट की उत्पादन क्षमता होगी। ये प्लांट 1500 से अधिक व्यक्तियों के लिए रोजगार सुनिश्चित करेंगे।
इस अवसर पर  सिद्धार्थ भूषण खुराना, मैनेजिंग डायरेक्टर, स्टड्स एक्सेसरीज लिमिटेड, ने कहा, "यह हम सभी के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। यह कदम बाजार में हमारी अग्रिम भूमिका की पुष्टि करते हुए, मेक इन इंडिया के प्रति हमारी प्रतिबद्धता के लिए एक उदाहरण है। हमारे नए संयंत्र स्थानीय नागरिकों के लिए रोजगार की संभावनाओं के साथ-साथ समग्र आर्थिक विकास में भी वृद्धि करेंगे।
"जैसा की हमने हाल ही में परिचालन शुरू किया है, तो हमने उत्पादन को धीरे-धीरे बढ़ाने का निर्णय लिया है। हमारे नए संयंत्रों के शुरू होने के साथ, हमने अपनी उत्पादन क्षमता को 70 लाख से 1.4 करोड़ यूनिट मोटरसाइकिल हेलमेट तक बढ़ा दिया है।"
ये प्लांट अधिकतर स्वचालित हैं और भारतीय बाजार में कुछ बेहतरीन मैन्युफैक्चरिंग प्रक्रियाओं को लाते हैं, जिसमें पेंटिंग, मोल्डिंग, कोटिंग, पैकेजिंग और वेयरहाउसिंग शामिल हैं।
इन नए मैन्युफैक्चरिंग संयंत्रों के साथ, स्टड्स की अब देश में चार फैक्ट्रियां हैं और ये सभी फरीदाबाद, हरियाणा में स्थित हैं।
स्टड्स वर्तमान में 40 से अधिक देशों में अपने हेलमेट का निर्यात कर रहा है और नए प्लांट का उद्देश्य निर्यात में तेजी लाना है। कंपनी की योजना इस वित्तीय वर्ष के भीतर हेलमेट की एक नई श्रृंखला शुरू करने की भी है।