ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
टाटा ऑल्ट्रोज को ग्लोबल एनसीएपी से मिली 5- टार एडल्ट रेटिंग
January 16, 2020 • SRISHTI SHARMA • बिज़नेस

ऑल्ट्रोज ग्लोबल एनसीएपी 5- टार रेटिंग (एडल्ट ऑक्यूपेंट प्रोटेक्शन) पाने वाली दूसरी भारतीय कार बनी

मुंबई : टाटा मोटर्स ने  घोषणा की है कि उसकी प्रीमियम हैचबैक कार ऑल्ट्रोज, ग्लोबल एनसीएपी से 5- टार एडल्ट सेफ्टी रेटिंग पाने वाली नवीनतम न कर्ता बन गई है। ग्लोबल एनसीएपी वैश्विक कार मूल्यांकन का सबसे प्रमुख कार्यक्रम है। यह रेटिंग हासिल करने वाली ऑल्ट्रोज, टाटा मोटर्स की न सिर्फ दूसरी गाड़ी है, बल्कि यह भारतीय ऑटोवाहन छ रोग में भी इसस् तर पर आने वाली दूसरी का ी कार है। इससे पहले नेक्सॉन को दिसबंर, 2018 में यह सम्मान मिला था।

टाटा ऑल्ट्रोज को इसमें बैठने वालों को विश्वस्तरीय सुरक्षा प्रदान करने के हिसाब से डिजाइन किया गया है, और कार की मीडिया समीक्षाओं में इसकी जमकर तारीफ की जा रही है। टाटा मोटर्स की यह ऐतिहासिक उपलब्धि इस बात का प्रमाण है कि भारतीय ऑटोवाहन छ ोग वाहनों में उच्चतम वैश्विक मानकों को प्रदान करने में सक्षम है।

इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर टाटा मोटर्स की पैसेंजर व्हीकल्स बिजनेस यूनिट (पीवीबीयू) के प्रेसिडेंट श्री मयंक पारीक ने कहा, 'हम एक और उत्पाद उपलब्ध कराकर गर्व महसूस कर रहे हैं, जिसे भारतीय सड़कों पर सबसे सुरक्षित मा । वाहन माना जाएगा। कनेक्टेड इलेक्ट्रिफाइड शेयर्ड ऐंड सेफ (सीईएसएस) मोबिलिटी समाधान के अपने दर्शन के अनुरूप, हमने भारतीय ऑटोमोटिव छ ोग को एक और उत्पाद सफलतापूर्वक दिया, जोकि कड़ी सुरक्षा की एक और प्रमाणित मिसाल है। इस मामले में नेक्सॉन हमारे लिए एक बड़ा मार्गदर्शक-पुंज है और ऑल्ट्रोज ने उसके पदचिन्हों का अनुसरण किया और छ ोग सुरक्षा मानकों में एक नया मानदंडस् थापित किया। हमें आशा है कि इस तरह की उपलब्धियां भारतीय कार खरीदारों के मन में हमारे बैज को लेकर भरोसा बढ़ायेंगी और इस बात को प्रमाणित करना जारी रखेंगी कि एक्न ांड के तौर पर टाटा मोटर्स श्रेणी को परिभाषित करने वाले उत्पादों से जुड़ा है।"

सड़क सुरक्षा सरकार और छ ोग, दोनों के लिए प्रमुख एजेंडा है और टाटा मोटर्स सुरक्षित व खूबसूरत कार बनाने के लिए जानी जाती है। यह नवीनतम ग्लोबल एनसीएपी अंक इसकी पुष्टि करता है कि टीएमएल भारतीय ग्राहकों के लिए वैश्विक कार सुरक्षा में सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध कराने को प्रतिबद्ध है। निजी व जन-परिवहन के वे में नए-नए परिवहन समाधानों को विकसित कर कंपनी 'सुरक्षित भारत' की अपनी मुहिम को लेकर वचनबद्ध है। यही नहीं, टाटा मोटर्स कनेक्टेड, इलेक्ट्रिफाइड शेयर्ड ऐंड सेफ (सीईएसएस) के जरिये मोबिलिटी परिवर्तन को लेकर भी प्रतिबद्ध है और कंपनी ने समावेशी वस् थायी दृष्टिकोण अपनाकर देश को जिम्मेदार बनाने का सजग फैसला लिया है

इस उपलब्धि के बारे में अपनी बात रखते हुए टाटा मोटर्स के प्रेसिडेंट व चीफ टेक्नोलॉजी ऑफीसर श्री राजे पेटकर ने कहा, 'हम टाटा ऑल्ट्रोज के रूप में एक और कार बनाकर खुश हैं, जिसने इस छ ोग में ऑटोमोटिव सुरक्षा मानकों को एक नई ऊंचाई दी है। देश में हैचबैक कार की श्रेणी में छ रोग प्रथम होने की खातिर यह हमारा उद्दे य था कि हम ऐसे मोबिलिटी समाधान लेकरआएं, जिसमें ठ त तकनीकी विशेषताएं हों, साथ में इसमें बैठने वालों के लिए सख्त सुरक्षा व्यव था भी हो। यह उपलब्धि हमारे इस दर्शन के अनुरूप है कि वाहन सुरक्षा सबको मिलनी चाहिए। ऑल्ट्रोज को जीएनसीएपी 5स टार मिलना दरअसल हमारी इंजीनियरिंग टीम की अथक मेहनत का नतीजा है, जिनको परियोजना क्रियान्वयन और पूरे संगठन का भरपूर सहयोग मिला, यहां तक कि हमारे सप्लायर पार्टनर्स का भी सहयोग मिला। एक साथ मिलकर उन्होंने एक उम्दा पैकेज तैयार किया, जिसमें उत्कृष्ट संरचनात्मक संपूर्णता भी थी और साथ ही इसमें एक 'डिजिटल फ र्ट' रणनीति का इ तेमाल किया गया।”

ऑल्ट्रोज की संरचना और संपूर्ण सुरक्षा का मूल्यांकन ग्लोबल एनसीएपी क्रैश टे ट के माध्यम से किया गया। कार को सामने और साइड, दोनों तरफ के प्रभावों से परखा गया। ग्लोबल एनसीएपी द्वारा किये गये दोनों ही परीक्षण के संयुक्त मूल्यांकन का नतीजा है - पूर्ण 3 टार रेटिंग। ऑल्ट्रोज ने बच्चों की सुरक्षा के लिए भी उल्लेखनीय 3- टार रेटिंग प्राप्त की है

इस उपलब्धि को ध्यान में रखते हुए, सुरक्षा को ऑटो एक्सपो 2020 के लिए भी कंपनी की थीम के एक महत्वपूर्ण पहलू के पर रखा गया है। ऑटो एक्सपो का आयोजन अगले महीने होगा