ALL बिज़नेस मनोरंजन स्वास्थ्य भोपाल आलेख मध्यप्रदेश शिक्षा
यदि आपके सिर पर मां का आशीर्वाद ना हो, तो आलीशान घरों में रहना और बढ़िया कारें चलाना, सब बेकार है : अक्षय म्हात्रे
October 1, 2020 • SRISHTI SHARMA • मनोरंजन

यदि आपके सिर पर मां का आशीर्वाद ना हो, तो आलीशान घरों में रहना और बढ़िया कारें चलाना, सब बेकार है : अक्षय म्हात्रे

मुंबई : "एक मां हमें शक्ति देती हैं, हमें संभालती हैं और हमारे सारे जख्म भर देती हैं। वो हमारी जिंदगी से अंधेरे और भ्रम को दूर करके उसमें नई रोशनी लाती हैं।" यह कहना है एक्टर अक्षय म्हात्रे का, जो इंडियावाली मां में एक बेटे का रोल निभा रहे हैं।

अपने किरदार की खासियत बताते हुए अक्षय ने कहा, "रोहन का किरदार एक बेपरवाह लड़के का है, जो अपनी समस्याओं का सामना करने के लिए खुद ही संघर्ष करता है। उसे लगता है कि वो खुद ही इनसे बाहर आ सकता है, क्योंकि अब वो बड़ा हो चुका है। हालांकि पैसे कमाने और सफल आदमी बनने की दौड़ में वो हार चुका है, लेकिन वो अपने परिवार को भूल गया है और अपनी मां के साथ वैसा व्यवहार नहीं करता जैसा कि करना चाहिए।"

अक्षय ने आगे कहा, "रोहन के रोल में ढलना और उस मां के साथ गलत व्यवहार करना मेरे लिए काफी चुनौतीपूर्ण था, जो अपने बेटे को तमाम मुश्किलों से बचाने के लिए हर संभव प्रयास करती है। जब मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी, तो पहली बार में तो मैं पीछे हट गया क्योंकि मैं जानता था कि मैं एक मां के साथ इस तरह से व्यवहार नहीं कर पाऊंगा। मेरा मानना है कि यदि आपके सिर पर मां का हाथ ना हो, तो आलीशान घरों में रहना और चमचमाती कारें चलाना, सब बेकार है। मैं अपनी मां के कारण ही यह रोल कर रहा हूँ जो चाहती थीं कि मैं इस अवसर को हाथ से ना जाने दूं। इसके अलावा पर्दे पर मेरी मां का रोल निभा रहीं सुचिता मैम भी हर शॉट के पहले मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रेरित करती हैं।"

रोहन ने यह कहकर अपनी बात खत्म की, "मैं खुद को खुशनसीब मानता हूं कि रोहन का रोल निभाने में मेरा मार्गदर्शन करने के लिए मेरे पास मेरी मां और रील वाली मां भी हैं।"

इंडिया वाली मां में अक्षय म्हात्रे को देखिए रोहन के रोल में, सोमवार से शुक्रवार रात 8:30 बजे, सिर्फ सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर।